Wednesday, 27 January 2016

ऐ दिल

                      ऐ दिल

बहुत ज़ुल्म सहे लिए इस ज़िन्दगी ने ,
कुछ दर्द तू भी सहे लेना ऐ दिल,
थोड़ी ख़ुशी थोड़े गम के पल देख लिए ऐ ज़िन्दगी ,
उसका अंजाम तू भी पाले ऐ दिल,
सुना है बहुत मुश्किल से मिलती है एक हसीन ज़िंदगी खुदा की रेहमत से,
तो थोड़ी साँसे तूने ली है मुश्किलें,थोड़ी साँसे तू भी ले ऐ मेरे दिल.