Sunday, 3 January 2016

मेरी ज़िन्दगी

              मेरी ज़िन्दगी 

उम्र का तजुर्बा बहुत कुछ सिखाता है ,
हर कदम सोच कर चले ये बात समझाता है,
कुछ लोगो के नग़मे आज भी याद है ,तो कुछ लोगो की बातें ,
बस  उन यादों को सोच इंसान आज भी ज़िन्दगी बिताता है.